‘योगी राज’ में नहीं थम रहे अपराध, अब बुलंदशहर में वकील को किडनैप कर की हत्या, जानिए पूरा मामला?

lawyer killed in bulandshr, uttar pradesh crime news

उत्तर प्रदेश में आपराधिक घटनाएं बढ़ती ही जा रही है, जिसकी वजह से प्रदेश की कानून व्यवस्था लगातार सवालों के घेरे में है. कभी नोएडा में पत्रकार की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी जाती है, तो कभी कानपुर और गोरखपुर जैसी जगहों से अपहरण और हत्या की खबरें सामने आ रही है. अब इसके बाद बुलंदशहर से भी ऐसा ही मामला सामने आया है.

25 जुलाई को हुए थे लापता

यूपी के बुलंदशहर में 8 दिन पहले वकील धर्मेंद चौधरी लापता हुए थे. अब उनका शव बरामद हुआ है. वकील की लाश को आग के हवाले कर खुर्जा इलाके के टाइल्स के गोदाम में दफन कर दिया गया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. उधर इस घटना को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने एक बार फिर से योगी सरकार पर हमला बोला है.

यह भी पढ़े: कानपुर: 22 जून को किया अगवा, 30 लाख फिरौती लेने के बाद लैब असिस्टेंट की कर दी हत्या, जानिए पूरा मामला?

प्रियंका का सरकार पर हमला

प्रियंका ने ट्वीट में लिखा- ‘यूपी में जंगलराज फैलता जा रहा है. क्राइम और कोरोना कंट्रोल से बाहर है. बुलंदशहर में धर्मेन्द्र चौधरी जी का 8 दिन पहले अपहरण हुआ था. कल उनकी लाश मिली। कानपुर, गोरखपुर, बुलंदशहर. हर घटना में कानून व्यवस्था की सुस्ती है और जंगलराज के लक्षण हैं. पता नहीं सरकार कब तक सोएगी?’

ये है पूरा मामला…

बता दें कि बुलंदशहर के खुर्जा के रहने वाले धर्मेंद्र चौधरी कोर्ट में वकालत और प्रॉपर्टी डीलर का काम किया करते थे. 25 जुलाई की रात को वो संदिग्ध परिस्थितियों में लापता हो गए. वकील के लापता होने की जानकारी मिलने के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया. पुलिस ने खेतों से लेकर जंगलों और नहरों तक धर्मेंद्र चौधरी को ढूंढा, लेकिन उनके हाथ कोई भी सुराग नहीं लगा. इस दौरान धर्मेंद्र चौधरी की बाइक क्षेत्र के गांव खबरा के जंगल में लावारिस हालत में मिली.

यह भी पढ़े: 15 दिनों की प्लानिंग, अपहरण और फिर मर्डर…जानें कैसे गोरखपुर किडनैपिंग की बारीकी से रची गई थी साजिश ? 

इसी दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि धर्मेंद्र चौधरी का महालक्ष्मी टिंबर्स टाइल्स फ्रैक्टी के संचालक विक्की लाला के साथ पैसों के लेनदेन को लेकर विवाद चल रहा है. इसके बाद सूचना मिलने पर शुक्रवार देर रात पुलिस ने विक्की लाला की फैक्ट्री की तलाशी ली. इस दौरान वकील का शव 8 फीट गहरे गड्ढे में मिला. उन पर धारदार हथियार से वार किए गए थे और साथ ही शव को आग भी लगा दी थी.

वहीं इस मामले में एसएसपी संतोष कुमार ने बताया कि उन्हें वकील की गुमशुदगी की जानकारी 25 जुलाई को मिल गई थी. उनकी तलाश में 8 टीमें काम कर रही थी. आसपास के इलाकों में दबिश भी दी गई. शुक्रवार को एक गोदाम से उनका शव बरामद हुआ. पुलिस के मुताबिक पैसों के लेनदेन से जुड़े विवाद के चलते उनकी हत्या हुई है. इस मामले में केस दर्ज करके आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और उऩसे पूछताछ की जा रही है.

यह भी पढ़े: गोंडा: कानपुर मामले से पुलिस ने लिया सबक! कुछ ही घंटों में मासूम बच्चे को किडनैपर्स के चुंगल से यूं छुड़ाया