Twitter की इस हरकत पर आगबबूला हुए लोग, विवाद बढ़ता देख कंपनी ने कही ये बात…

माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर विवादों में घिर गया हैं। ट्विटर ने एक ऐसी गलती कर दी हैं, जिसकी वजह से भारतीयों का पारा चढ़ गया। जिसके बाद सोशल मीडिया पर लोगों ने ट्विटर से माफी मांगने को कहा। तो वहीं कुछ लोगों ने तो ट्विटर के अफसरों को गिरफ्तार करने तक की बात कही दी। आइए आपको बताते हैं कि आखिर पूरा माजरा है क्या?

बड़ी गलती कर बैठा ट्विटर

दरअसल, ट्विटर ने गलती से जम्मू-कश्मीर को चीन का हिस्सा बता दिया था, जिस पर भारतीय यूजर्स आगबूबला हो गए। बवाल इतना बढ़ गया कि कंपनी को ऐक्‍शन लेना पड़ा। हंगामा होता देख ट्विटर ने एक बयान में कहा कि उसने इस दिक्कत को दूर कर दिया हैं।

यह भी पढ़े: फिर सोशल मीडिया पर ट्रोल हुए राहुल गांधी, ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा #PappuScientist, जानिए क्यों?

दरअसल, नेशनल सिक्‍योरिटी एनालिस्‍ट नितिन गोखले बीते दिन रविवार को लेह में थे। यहां पर उन्होनें लेह के मशहूर वॉर मेमोरियल से ट्विटर पर लाइव किया। लेकिन इस दौरान उनकी जो लोकेशन दिखाई गई, उसे देखकर वो हैरान रह गए। गोखले ने इसके बारे में ट्वीट कर कहा- “लाइव प्रसारण के लिए अपनी लोकेशन के तौर पर हॉल ऑफ फेम लेह डालकर देखें कि क्या हो रहा है। ये जम्मू और कश्मीर को पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना की जगह की तौर पर दिखा रहा हैं। मैंने इसे फिर से परखा। अपमानजनक। भारत सरकार को तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए।”

इसके बाद ट्विटर पर ही ट्विटर के खिलाफ लोगों के ट्वीट्स की बाढ़ आ गई। चीन और भारत के बीच जो विवाद चल रहा हैं, उसको लेकर लोगों का गुस्सा और ज्यादा था। लोगों ने कई सरकारी हैंडल को टैग कर ट्विटर के खिलाफ एक्‍शन लेने की मांग की।

ट्विटर की तरफ से दिया गया ये बयान

लोगों का गुस्सा बढ़ता देख ट्विटर हरकत में आया और अपनी गलती को सुधार लिया। ट्विटर की तरफ से जारी एक बयान में कहा गया कि इस तकनीकी खामी के बारे में हमें रविवार को पता चला। हम इसकी संवेदनशीलता को समझते हैं और उसका सम्‍मान करते हैं। टीमों ने तेजी से जांच कर जियोटैग के मसले को सुलझा दिया।

यह भी पढ़े: Iphone 12 सीरीज लॉन्च होते ही एप्पल ने इन शानदार स्मार्टफोन्स की घटा दी कीमत, खरीदने का सबसे अच्छा मौका…

Xiaomi भी हुआ लोगों के गुस्से का शिकार

वैसे सिर्फ ट्विटर ही नहीं टेक कंपनी Xiaomi भी लोगों के निशाने पर है। दरअसल, चीनी मोबाइल कंपनी Xiaomi के वेदर ऐप में अरुणाचल प्रदेश नहीं दिख रहा। इसको सोशल मीडिया पर लोगों ने भारत-चीन सीमा विवाद से जोड़ दिया। दरअसल, अरुणाचल प्रदेश को लेकर भारत और चीन में विवाद होता रहता है। चीन उस पर अपना हक जताता हैं।

Xiaomi पर आरोप लगा कि कंपनी ने ये जान बूझकर किया। वेदर ऐप में अरुणाचल प्रदेश नहीं दिखने पर लोगों ने #BoycottXiaomi ट्रेंड किया था। इस पर कंपनी की तरफ से सफाई देते हुए कहा- “हम ये साफ करना चाहते हैं कि हमारे डिवाइस में दिया गया वेदर ऐप मल्टिपल थर्ड पार्टी वेदर डेटा सोर्स का इस्तेमाल करते है। हम ये समझते हैं कि कई लोकेशन के लिए इस ऐप में वेदर डेटा नहीं है।” Xiaomi ने इसको टेक्निकल Error भी बताया और कहा कि इसको लगातार इंप्रूव किया जा रहा हैं।

यह भी पढ़े: क्या खतरे में हैं Whatsapp पर आपकी प्राइवेसी? चैट लीक होने के बाद उठ रहे हैं सवाल!