इस देश में मास्क न पहनने वालों को मिलेगी इतनी कड़ी सजा, सुन कर खड़े हो जाएंगे रोंगटे

कोरोनावायरस के दौर में मास्क पहनना सबसे अहम हो गया है। इसी को मद्देनजर रखते हुए मुस्लिम देश कतर ने मास्क न पहनने वालों के लिए दुनिया की सबसे कड़ी सजा देने का फैसला किया है।

qatar punishment corona virus

कोरोनावायरस के दौर में मास्क पहनना सबसे अहम हो गया है। लेकिन दुनिया में कई लोग इसकी गंभीरता को अनदेखा कर रहे हैं। इसी को मद्देनजर रखते हुए मुस्लिम देश कतर ने मास्क न पहनने वालों के लिए दुनिया की सबसे कड़ी सजा देने का फैसला किया है। सजा के तहत जो मास्क नहीं पहनेगा उसे तीन साल सलाखों के पीछे काटना पड़ेगा और जुर्माने के लिए मोटी रकम भी देनी पड़ेगी।

मास्क नहीं पहना तो खैर नही..

कतर और कुवैत ऐसे दो मुस्लिम देश है जहां कोरोना तेजी से अपने पैर पसार रहा है। यहां करीब 30 हज़ार लोग कोरोना से संक्रमित हैं जबकि 15 की मौत हो गयी है। ताकि बड़े खतरे से बचा जा सके इसलिए यहां की सरकार मास्क न पहनने वालों पर बेहद सख्त नज़र आ रही है। कुवैत में ये सजा तीन महीने रखी गयी है जबकि कतर में ये सजा 3 साल की है।

ये भी देखें :लॉकडाउन के बीच मुंबई से मुजफ्फरनगर पहुंचे नवाजुद्दीन और उनके परिवार का हुआ कोरोना टेस्ट, सामने आईं ये रिपोर्ट

जेब से जाएगी भारी भरकम रकम

मिली जानकारी के मुताबिक मास्क न पहनकर नियम तोड़ने वालों को करीब 41 लाख रुपये राशि जुर्माने के तौर पर भरनी पड़ेगी। हालांकि जो लोग गाड़ी को अकेले ड्राइव कर रहे हैं उन्हें मास्क न पहनने की इजाजत है। अभी फिलहाल ये नियम लागू नहीं किया गया है। नियम लागू होने से पहले पुलिस इस जानकारी को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा रही है।

ये भी देखें :कोरोना के खिलाफ युद्ध पर विजय के लिए मोदी का मास्टरप्लान, ठोस स्ट्रेटजी के साथ हो रहा काम

सऊदी अरब के सबसे ज्यादा मामले

खाड़ी में सबसे ज्यादा मामले सऊदी अरब के हैं जहां कुल मामलों की संख्या 54,700 से ज्यादा है और 312 लोग मारे गए हैं. इसके बाद दूसरे स्थान पर कतर है। खाड़ी में करीब 137,400 मामले सामने आए हैं, जबकि 693 की मौत हुई है. शुरुआत में इन देशों में संक्रमण उन लोगों की वजह से हुआ जिनकी ट्रैवल हिस्ट्री रही थी, लेकिन समस्या तब बढ़ी जब वायरस का प्रसार छोटे घरों में रहने वाले कम आय वाले प्रवासी श्रमिकों के बीच फैलने लगा।