…तो क्या अब जल्द होंगे IPL? खेल मंत्री किरण रिजिजू ने दी टूर्नामेंट आयोजित करने की परमिशन

Kiren rijiju give permission to organise tournament, ipl 2020 latest update

दुनियाभर में कोरोना वायरस का कहर बढ़ता ही जा रहा है. वैश्विक महामारी का रूप ले चुका कोरोना वायरस पूरी दुनिया के लिए बड़ी मुसीबत बना हुआ है. संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए कई देशों में लॉकडाउन लागू है. खेल जगत भी कोरोना वायरस से काफी प्रभावित हुआ है. कोरोना के कहर को देखते हुए कई बड़े-बड़े टूर्नामेंट या तो टाल दिए गए हैं, या फिर उन्हें रद्द कर दिया है.

टोक्यो में होने वाले खेलों के महाकुंभ ओलंपिक भी इसमें शामिल है. ओलंपिक का आयोजन इस साल होना था, लेकिन वैश्विक महामारी के खतरे को देखते हुए इसे एक साल के लिए टाल दिया गया. अब ओलंपिक का आयोजन 23 जुलाई 2021 को होगा. क्रिकेट का भी कोरोना का काफी असर पड़ा है. बीते 2 महीने से ज्यादा समय से कोरोना की वजह से क्रिकेट के मैच का आयोजन नहीं हो रहा.

यह भी पढ़े: अफरीदी को टीम इंडिया के दिग्गज खिलाड़ियों ने जमकर लताड़ा, जानिए किसने-क्या बोला?

लॉकडाउन 4.0 में मिली प्रैक्टिस की छूट

भारत में हर साल होने वाले इंडियन प्रीमियर लीग (IPL)-13 का भी आयोजन इसी दौरान होना था, लेकिन कोरोना के चलते इसे भी टाल दिया गया. वायरस के बढ़ते खतरे को देखते हुए BCCI ने IPL को अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया है. हालांकि भारत में बीते 25 मार्च से जारी लॉकडाउन में अब धीरे-धीरे छूट दी जाने लगी है. सरकार ने 18 मई से जारी लॉकडाउन 4.0 में स्टेडियम में प्रैक्टिस की परमिशन दे दी है. हालांकि इस दौरान दर्शकों को एंट्री नहीं दी जाएगी.

यह भी पढ़े: Team India के कोच पर युवराज का बड़ा हमला, कहा- जिसने खुद नहीं खेला, वो खिलाड़ियों को कैसे सिखाएगा

खेल मंत्री ने दिया ये बड़ा बयान

सरकार के स्टेडियम में प्रैक्टिस की छूट दिए जाने के बाद खेल मंत्री किरण रिजिजू ने भारत में खेल टूर्नामेंट का आयोजन कराने की बात कही है. किरण रिजिजू ने कहा- ‘अगर कोई खेल महासंघ किसी टूर्नामेंट का आयोजन करना चाहता हैं, तो वो स्टेडियम में कर सकते हैं. लेकिन इस दौरान खेल महासंधों को मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) का सख्ती से पालन करना होगा. किसी भी टूर्नामेंट का आयोजन अनुशासन में रहते हुए ही किया जा सकता है.’

खेल मंत्री के इस बयान के बाद अब IPL के आयोजन की संभावना बढ़ गई है. खबरों के मुताबिक बताया जा रहा है कि BCCI सितंबर के आखिरी में IPL कराने पर विचार कर रहा है. हालांकि ये तभी संभव हो पाएगा जब देशभर में कोरोना के मामलों को कम करने में सफलता मिलेगी. गौरतलब है कि अगर इस साल IPL का आयोजन नहीं हो पाता तो BCCI को 4 हजार करोड़ रुपये तक का नुकसान हो सकता है.

यह भी पढ़े: 26 साल का ये क्रिकेटर कोरोना वायरस से हुआ संक्रमित, पहले ही कई गंभीर बीमारियों का है शिकार