Raksha Bandhan 2020: सावन के आखिरी सोमवार को रक्षाबंधन, ये है राखी बांधने का सबसे शुभ मुहूर्त

raksha bandhan, rakhi 2020

भाई और बहन का रिश्ता सबसे खास होता है. इस रिश्ते में भले ही कितनी भी लड़ाईयां और नोंक-झोंक क्यों ना होती है, लेकिन भाई-बहन हर मुसीबत में एक-दूसरे का साथ निभाते है. भाई-बहन के प्यार का प्रतीक सबसे खास त्योहार रक्षाबंधन होता है, जिसका दोनों ही काफी बेसब्री से इंतेजार करते हैं. रक्षाबंधन पर बहनें अपने भाई की कलाईयों पर रक्षा सूत्र बांधती हैं और उनकी लंबी आयु की कामना करती हैं. वहीं भाई अपनी बहनों को जिंदगीभर रक्षा का वचन देते हैं.

बन रहा शुभ संयोग

सावन महीने की पूर्णिमा को रक्षाबंधन का त्योहार मनाया जाता है. इस साल रक्षाबंधन के त्योहार पर बेहद ही शुभ संयोग बन रहा है, जो 29 सालों के बाद आया है. इस बार ये त्योहार 3 अगस्त सावन के आखिरी सोमवार के दिन ही पड़ रहा है. ये रक्षाबंधन काफी खास होने वाला है क्योंकि इस साल इस त्योहार पर सर्वार्थ सिद्धि और आयुष्मान दीर्घायु का शुभ संयोग बन रहा है.

यह भी पढ़े: राममंदिर के आगे अयोध्या की इन 10 जगहों को भी कमतर मत समझिएगा, चाह कर भी हटा नहीं पायेंगे नजरें

ऐसा माना जाता है कि राखी शुभ मुहूर्त में ही बांधी जानी चाहिए. जब बहनें अपनी भाईयों की कलाई पर राखी बांधने, तो उस समय भद्रा नहीं होनी चाहिए. कहते हैं कि रावण की बहन से उसे भद्रा काल में ही राखी बांधी थी, इसलिए रावण का विनाश हो गया.

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त

बात अगर इस बार रक्षाबंधन के शुभ मुहूर्त की करें तो 3 अगस्त को सुबह 9 बजकर 29 मिनट तक भ्रदा है. रक्षाबंधन सुबह साढ़े 9 बजे से शुरू हो जाएगा. इस दौरान दोपहर एक बजकर 35 मिनट से शाम 4 बजकर 35 मिनट तक राखी बांधने का सबसे अच्छा समय बताया जा रहा है. वहीं शाम को साढ़ 7 बजे से लेकर साढ़े 9 बजे तक भी राखी बांधने का अच्छा मुहूर्त है.

यह भी पढ़े: रामायण के पात्रों पर दुनिया में छिड़ी बहस! नेपाल बोला राम हमारे तो श्रीलंका रावण का खंगालने लगा इतिहास

इस बार राखी पर बहुत ही अच्छे ग्रह नक्षत्रों का संयोग बन रहा है. सोमवार को आयुष्मान दीर्घायु योग है, यानि भाई-बहन दोनों की आयु लंबी हो जाएगी. साथ ही 3 अगस्त को सावन के आखिरी सोमवार के दिन ही पूर्णिमा है. ऐसा संयोग बेहद कम होता है, जब सोमवार को ही पूर्णिमा हो.

कोरोना ने त्योहार की रौनक फीकी

हालांकि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस ने सभी त्योहारों का रंग फीका कर दिया. इस बार रक्षाबंधन के दौरान बाजारों में वो रौनक नहीं देखने को मिल रही है, जो हर साल होती है. वहीं इस दौरान जो भाई-बहन दूर रहते हैं, उनका एक-दूसरे से मिलना भी मुश्किल हो रहा है. हालांकि दूर-दूर रहकर भी भाई-बहन इस त्योहार वीडियो कॉल के जरिए इस त्योहार को मना सकते हैं.

बहनें वीडियो कॉल पर भाई को देखते हुए भगवान कृष्ण की तस्वीर सामने रखकर उनके सामने राखी रख दें. भाई भी वीडियो कॉल पर ही बहनों को आर्शीवद दे.

यह भी पढ़े: भूमि पूजन के दिन रामलला को क्यों पहनाई जाएगी हरे रंग की पोशाक? जानिए वजह