…तो क्या लीक हो गया Airtel के 25 लाख यूजर्स का प्राइवेट डेटा? जानिए इस बड़े दावे पर कंपनी ने क्या कहा?

airtel data leak

अगर आप भी Airtel के यूजर हैं तो आपके लिए एक खबर बेहद ही जरूरी है। Airtel यूजर्स की सुरक्षा में एक बड़ी लापरवाही सामने आई है। एक रिपोर्ट के मुताबिक 25 लाख Airtel यूजर्स का डेटा लीक हो गया है, जिसमें यूजर्स का पर्सनस डेटा भी शामिल बताया जा रहा है। जानकारी के अनुसार Airtel यूजर्स के नंबर से लेकर उनका आधार कार्ड नंबर, एडर्स समेत कई निजी जानकारियां लीक हुई हैं।

25 लाख यूजर्स का डेटा लीक होने की खबर

जो जानकारी हासिल हुई है, उसके मुताबिक एयरटेल के जम्मू-कश्मीर सर्किल के करीबन 25 लाख ग्राहकों का डेटा कथित तौर पर लीक हुआ और हैकर्स ने उनकी जानकारियों को सार्वजनिक कर दी।

यह भी पढ़े: क्या खतरे में हैं Whatsapp पर आपकी प्राइवेसी? चैट लीक होने के बाद उठ रहे हैं सवाल!

हैकर्स ने कंपनी को किया ब्लैकमेल 

साइबर सुरक्षा रिसर्चर्स राजशेखर राजहरिया ने इसकी जानकारी ट्विटर पर साझा की। राजशेखर ने भारती एयरटेल और रेड रैबिट टीम के नाम से हैकर्स के बीच हुई बातचीत की वीडियो शेयर की, जिसमें दिखाया गया कि हैकर्स ने एयरटेल को दिसंबर में डाटा की सेंध की जानकारी दी थी और साथ में कंपनी को ब्लैकमेल तक बिटकॉइन में 3500 डॉलर की फिरौती की मांग की।

राजशेखर राजहरिया ने बताया कि हैकर्स ने ये दावा किया कि उसके पास पूरे देश के एयरटेल यूजर्स का डेटा मौजूद हैं और अभी केवल जम्मू-कश्मीर के ग्राहकों का डेटा लीक किया। हैकर्स ने यूजर्स के डेटा को एक वेबसाइट पर अपलोड किया था, जिसको बाद में हटा लिया गया।

यह भी पढ़े: कब और कैसे इंटरनेट बंद कर देती हैं सरकार? यहां जान लें पूरा प्रोसेस

अब सबसे बड़ा सवाल ये उठ रहा है कि आखिर कैसे इतने लोगों का डेटा लीक हो गया? आखिर कहां Airtel से चूक हो गई? ऐसा माना जा रहा है कि एयरटेल के अनसिक्योर डेटाबेस से ये लीक हुआ हो। या फिर ऐसी संभावनाएं भी है कि सरकारी एजेंसियां जो सिक्योरिटी कारणों के लिए डेटा रखती हो, वहां से ये लीक हुआ हो।

जानिए इस पर Airtel ने क्या कहा?

हालांकि इस पूरे मामले पर एयरटेल की ओर से भी प्रतिक्रिया दी गई। कंपनी ने डेटा लीक होने की बात से साफ तौर पर इनकार किया। एयरटेल ने एक बयान जारी कर कहा- ‘अपने यूजर्स की प्राइवेसी और उसके लिए विभिन्न उपायों को लागू करना कंपनी के लिए गर्व की बात है। हम इस बात की पुष्टि करते हैं कि हमारी तरफ से कोई डाटा उल्लंघन नहीं हुआ है।’

हैकर ग्रुप की तरफ से जो दावे किए गए उसे Airtel ने गलत माना। कंपनी की मानें तो डेटा लीक हुआ, उसका एक बड़ा हिस्सा एयरटेल का नहीं है।

यह भी पढ़े: सावधान: कहीं वैक्सीन ऐप CoWIN के नाम पर ठग ना जाएं आप, जानिए सरकार ने लोगों को क्यों किया अलर्ट?