विपक्षी पार्टियों ने की अम्फान को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग, कहा- संकट में एकजुटता जरुरी

Opposition Parties Video Conferencing, Demands Amphan as a national disaster

देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। संक्रमित लोगों की संख्या में बेतहाशा वृद्धि देखने को मिल रही है। पिछले 24 घंटे में देश में 6654 नए मामले सामने आए हैं और 137 लोगों के मौत की पुष्टि हुई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 125101 पहुंच गई है। उनमें से 51784 लोगों का सफल इलाज किया जा चुका है जबकि 3720 लोगों के मौत की पुष्टि हुई है।

इसे भी पढ़े- तेलंगाना के CM का अधिकारियों को निर्देश, करें बस और ट्रेन की व्यवस्था, कोई भी मजदूर पैदल चलने पर ना हो मजबूर

बीते दिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की ओर से बुलाई गई विपक्ष की बैठक में कोरोना संकट को लेकर सरकार की तैयारी, इस महामारी के बीच सरकार की ओर से उठाए गए कदम, गरीब और प्रवासी मजदूरों की परेशानियों समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई। बताया जा रहा है कि इस बैठक में 22 राजनीतिक दल के नेताओं ने भाग लिया। विपक्षी दलों के इस बैठक में अम्फान चक्रवात से हुई तबाही पर भी चर्चा हुई, नेताओं ने चक्रवात से हुई तबाही पर शोक व्यक्त किया और मृतकों की आत्मा की शांति के लिए मौन रखा।

अम्फान का झटका भावनाओं को तोड़ने वाला

बीते दिन शुक्रवार को हुए इस बैठक में कहा गया कि देश पहले से ही कोविड-19 से जंग लड़ रहा है ऐसे में उसी दौरान चक्रवात अम्फान का आना दोहरा झटका और लोगों के भावनाओं को तोड़ने वाला है। विपक्षी दलों ने केंद्र से इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग की। विपक्षी दलों ने कहा कि दोनों राज्यों के लोगों को सरकारों एवं देशवासियों से तत्काल मदद और एकजुटता की जरुरत है।

इसे भी पढ़े- अगले 5 सालों में सभी कारों, बसों और ट्रकों का नंबर-1 विनिर्माण केंद्र होगा भारत- केंद्रीय मंत्री

विपक्षी पार्टियां केंद्र से आग्रह करती है कि इसे तत्काल राष्ट्रीयआपदा घोषित किया जाए और फिर इसी के मुताबिक राज्यों को मदद दी जाए। विपक्षी पार्टियों ने कहा कि ‘इस संकट की घड़ी में फिलहाल राहत और पुनर्वास सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिए, परंतु इस आपदा के परिणाम स्वरुप कई दूसरी बीमारियां पैदा होने की आशंका को भी नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। इसलिए हम केंद्र सरकार से आह्वान करते हैं कि वह दोनों राज्यों के लोगों की मदद करे।’

पीएम ने किया 1 हजार करोड़ के पैकेज का ऐलान

बता दें, अम्फान चक्रवात ने पश्चिम बंगाल और ओडिशा में भारी तबाही मचाई है। बीते दिन पीएम नरेंद्र मोदी ने प्रभावित इलाकों का हवाई दौरा किया और स्थिति का जाएजा लिया। इस चक्रवात में जान-माल का काफी नुकसान हुआ है, करीब 80 लोगों के मौत की खबरें भी सामने आ रही है। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अनुसार इस आपदा में 1 लाख करोड़ से अधिक का नुकसान हुआ है। हालांकि पीएम मोदी ने प्रभावित इलाकों का दौरा करने के बाद पश्चिम बंगाल के लिए 1 हजार करोड़ के राहत पैकेज की घोषणा की और साथ ही मृतकों के परिवारों को 2 लाख और घायलों को 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी देने का ऐलान किया।

इसे भी पढ़े- पीएम के राहत पैकेज के ऐलान पर भड़की ममता बनर्जी, कहा- नुकसान 1 लाख करोड़ का, मिले 1 हजार करोड़