Tanishq Ad Controversy: गुजरात में तनिष्क के स्टोर पर हमले की खबर निकली “झूठी”, पुलिस ने बताई सच्चाई

ATTACK ON TANISHQ STORE FACT CHECK

तनिष्क के एक ऐड को लेकर इन दिनों विवाद छिड़ा हुआ है। दरअसल, हाल ही में तनिष्क का एक विज्ञापन आया था, जिसमें दो अलग धर्मों के लोगों के परिवार को दिखाया गया था। ये विज्ञापन लोगों को पंसद नहीं आया, जिसके बाद इसको लेकर हर तरफ बहस छिड़ गई। सोशल मीडिया पर लोगों ने विज्ञापन के जरिए लव जिहाद को प्रमोट करने का आरोप लगाते हुए इसे वापस लेने की मांग की।

तनिष्क स्टोर पर हमले की फैली थी खबर

विवाद को बढ़ता देख तनिष्क ने ये विज्ञापन वापस ले लिया और इसके लिए लोगों से माफी भी मांग ली। लेकिन तनिष्क के इस ऐड को लेकर विवाद अब तक थमा नहीं है। दरअसल, बुधवार सुबह से एक खबर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो रही हैं, जिसमें ये दावा किया जा रहा हैं कि इस ऐड को लेकर कुछ लोगों ने गुजरात में गांधीधाम में तनिष्क के शोरूम पर हमला किया हैं और मैनेजर से जबरन माफीनामा भी लिखवाया है। ये खबर न्यूज चैनल NDTV द्वारा फैलाई गई थीं।

यह भी पढ़े: सोशल मीडिया ने कुछ ही घंटों में बदल दी बुजुर्ग की जिंदगी, वायरल होने के बाद Baba Ka Dhaba पर लगी भीड़, देखें Video

न्यूज चैनल ने ये दावा किया था कि गुजरात के गांधीधाम में तनिष्क स्टोर पर हमला हुआ है। हमलावरों ने स्टोर के मैनेजर से हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के लिए जबरदस्ती माफीनामा लिखवाया। इसका स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो गया।

पुलिस ने बताया पूरा सच

हालांकि NDTV की इस खबर की सच्चाई अब सामने आ गई है। ये खबर झूठी निकली। स्टोर के मैनेजर और पुलिस दोनों ने तनिष्क के स्टोर पर हमले की खबर को सिरे से खारिज कर दिया। कच्छ के एसपी ऑफिसर ने खबर का पूरी तरह से खंडन कर दिया हैं और साथ ही उन्होंने इसे प्रोपेगेंडा के तहत चलाई जाने वाली खबर बताया हैं।

यह भी पढ़े: क्या सीएम योगी ने कहा- “हमारा काम गाय बचाना है, लड़कियां नहीं”? जानिए वायरल हो रही इस खबर की सच्चाई…

उन्होनें कहा कि “मीडिया चैनल दिखा रहे हैं कि तनिष्क के स्टोर पर हमला हुआ, तोड़-फोड़ हुई या चोरी हुई, तो ये खबर एकदम गलत हैं। ये फेक न्यूज हैं। ये एक प्रोपगैंडा के हिसाब से चल रहा हैं। तो इस तरह की खबरों पर आप बिल्कुल भी ध्यान मत दीजिए।”

वहीं कच्छ के एसपी मयूर पाटिल ने ये भी बताया कि 12 अक्टूबर को दो लोग गांधीधाम के तनिष्क स्टोर पर आए थे और उन्होनें गुजराती में माफीनामा लिखने की मांग की थी। जिसके स्टोर के मालिक ने पूरा कर दिया। उनको कच्छ से धमकी भरे फोन आ रहे हैं, लेकिन स्टोर पर हमले की खबर गलत है। आपको यहां ये भी बता दें कि तनिष्क ने गांधीधाम में  स्टोर ने अपने दरवाजे पर माफी मांगते हुए एक नोट चिपकाया था।

क्यों विज्ञापन को लेकर हो रहा विवाद?

दरअसल, तनिष्क के इस विज्ञापन में एक हिंदू महिला की गोदभराई की रस्म को दिखाया गया था। लड़की की शादी एक मुस्लिम परिवार में हुई थी। इस विज्ञापन के जरिए लव जिहाद को प्रमोट करने का आरोप लगा। जिसके बाद सोशल मीडिया पर तनिष्क का बहिष्कार करने की मांग शुरू हो गई। लोगों का गुस्सा देखकर तनिष्क ने विज्ञापन वापस ले लिया। साथ ही तनिष्क ने एक बयान जारी कर माफी भी मांगी।

यह भी पढ़े: मध्य प्रदेश: पत्नी को बुरी तरह से पीटते नजर आ रहे स्पेशल डीजी पुरुषोत्तम मिश्रा, वीडियो वायरल होने के बाद मचा बवाल