वारिस पठान के बयान पर मुस्लिम संगठन का ऐलान, कहा- उनका सिर कलम करने वाले को देंगे 11 लाख का इनाम

Waris Pathan, Asaduddin Owaisi

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) नेता वारिस पठान के बयान को लेकर सियासत तेज हो गई है। तमाम राजनीतिक पार्टियां वारिस पठान पर कार्रवाई और AIMIM को बैन करने की मांग कर रही है। दूसरी ओर AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने वारिस पठान को हिदायत देते हुए मीडिया से मुखातिब होने पर पाबंदी लगा दी है। इसी बीच खबर है कि एक मुस्लिम संगठन ने वारिस पठान का पुतला जलाकर विरोध किया और उन्हें देशद्रोही करार दिया। इस संगठन के संयोजक ने घोषणा की है कि वारिस पठान का सिर कलम करने वाले को 11 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा।

इसे भी पढ़े- विवादित बयान देकर बुरे फंसे AIMIM नेता वारिस पठान, ओवैसी ने मीडिया से बातचीत पर लगाई रोक

सिर कलम करने वाले को 11 लाख का इनाम

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के कंपनी बाग रोड में सामाजिक संगठन हक-ए-हिंदुस्तान मोर्चा के बैनर तले, उसके सदस्यों ने वारिस पठान के बयान का जमकर विरोध किया। इस दौरान वारिस पठान को देशद्रोही करार देते हुए संगठन के सदस्यों ने उनका पुतला जलाया। सामाजिक संगठन हक-ए-हिंदुस्तान मोर्चा के राष्ट्रीय संयोजक तमन्ना हाशमी ने कहा है कि वारिस पठान की भाषा पाकिस्तान की भाषा है, ये देशद्रोहियों की भाषा है और हम अपने मोर्चा की ओर से ऐलान करते हैं कि ऐसे आतंकियों का सिर कलम कर दिया जाए।

इसे भी पढ़े- CAA: पाकिस्तान जिंदाबाद नारे लगाने वाली लड़की पर दर्ज हुआ देशद्रोह का केस, गई जेल

हाशमी ने आगे कहा कि जो व्यक्ति वारिस पठान का सिर कलम कर के लाएगा, उसे हमारे संगठन (हक-ए-हिंदुस्तान मोर्चा) की ओर से 11 लाख रुपये का इनाम दिया जाएगा।

जानें, AIMIM नेता वारिस पठान ने क्या कहा था..

बता दें, बीते दिनों कर्नाटक के गुलबर्गा में एक CAA विरोधी रैली को संबोधित करते हुए AIMIM नेता वारिस पठान ने कहा था कि,’वे कहते हैं कि हमने महिलाओं को आगे कर दिया है, लेकिन ध्‍यान रखना कि अभी तक केवल शेरनियां ही बाहर आई हैं और आप पसीना बहा रहे हैं। इससे आप समझ सकते हैं कि अगर हम सभी बाहर निकल आए तो क्‍या होगा। हम 15 करोड़ हैं लेकिन 100 करोड़ के ऊपर भारी हैं. ये याद रख लेना।’

इसे भी पढ़े- केंद्रीय मंत्री का विवादित बयान, कहा- पूर्वजों से गलती हो गई, 1947 में ही मुस्लिमों को PAK भेज देना चाहिए था

उनके इस संबोधन के दौरान ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी भी मंच पर मौजूद थे। सभी राजनेताओं और राजनीतिक पार्टियों ने उनके बयान की कड़ी निंदा की है और वारिस पठान पर कार्रवाई की मांग की है।