अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन एवं वैश्य पर अग्रवाल परिवार के संयुक्त तत्वाधान में मनाई गई महाराजा अग्रसेन जी की जयंती

आज यानि 17 अक्टूबर जब कि पहला नवरात्र है तो वहीं आज ही समाजवाद प्रवर्तक अग्र शिरोमणि महाराज श्री अग्रसेन जी की 5144वीं जयंती भी है। ऐसे में अंतर्राष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन एवं वैश्य पर अग्रवाल परिवार के संयुक्त तत्वाधान में बड़े ही भव्यता तरीके से महाराजा अग्रसेन जी की जयंती मनायी गयी। इस कार्यक्रम का शुभारंभ गणेश जी की वंदना और लक्ष्मी जी की आरती के साथ ही दीप प्रज्वलन करके किया गया।

इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉ अनिल अग्रवाल सांसद राज्यसभा रहे जिन्होंने कहा कि महाराजा अग्रसेन ने अपने राज्य में एक रुपया ओर एक ईंट की प्रथा का एलान किया। उन्होंने ऐलान किया कि राज्य में कोई भी व्यक्ति रहने आयेगा तो उसे सभी घर एक रुपया और एक ईंट देंगे जिससे कि उसका घर और व्यापार स्थापित हो जाए। सभी वैश्य को संगठित होकर उसी दिशा में काम करना चाहिए।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि अशोक गोयल ने कहा कि अग्रसेन महाराज जी के आदर्शों पर हम सभी को चलना चाहिए। तो वहीं नानक चंद गोयल शीरा वाले ने कहा कि देश में 22 करोड़ वैश्य आर्थिक विकास और संपन्नता की मुख्य धुरी हैं। महानन्द अग्रवाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि वैश्य समाज किसी की दया पर नहीं अपितु स्वाभिमान के साथ जीना जानता है। अनिल अग्रवाल सांवरिया ने इस मैके पर कहा कि महाराजा अग्रसेन ने एक तंत्रीय शाषण प्रणाली को खत्मकर विश्व में सर्वप्रथम अपने ढंग की अनोखी लोकतंत्रीय शाखा प्रणाली का शुभारंभ किया। इस मौके पर अनिल गर्ग कजारिया टाइल्स वाले ने सबको शुभकामनाएं दीं। वहीं आदि नारायण गुप्ता ने वैश्य एकता के साथ सामाजिक समरसता पर भीजोर दिया।

इसके अलावा डॉ सपना बंसल प्रोफेसर दिल्ली यूनिवर्सिटी ने इस अवसर पर अपनी बात रखते हुए कहा कि दुनिया भले ही आरक्षण की मांग करें पर वैश्य समाज प्रतिभा के साथ आज भी बिना किसी के मोहताज हुए स्वाभिमान के साथ मजबूती से जीवन जीता है। सुभाष गर्ग आर डी स्टील ने कहा कि राजनीति में जब तक वैश्य समाज का परचम नहीं तब तक समाज का उत्थान नहीं संभव है।
रजनीश बंसल मंगली होज़री से समाज की एकजुटता पर जोर दिया और सूचना दी कि आगामी 17 नवंबर को एक साथ मिलकर महाराजा अग्रसेन जी की जयंती मनाई जाएगी। सुनील वार्ष्णेय ने कहा कि भजन एवं कहानियों के जरिए हमारी आगे आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा मिलती है। डॉ ओ पी अग्रवाल ने बहुत सुंदर कविता पाठ किया और जयंती की शुभकामनाएं भी दीं। मेजर सुशील गोयल ने कहा मेरा तन मन धन समाज के लिए समर्पित है। तो वहीं सुबोध कुमार गर्ग ने अग्रसेन महाराज को समाजवाद का अग्रदूत कहा।

वहीं सीमा गोयल ने अपने विचार रखे। उन्होंने कहा कि वैश्य ने महिला सशक्तिकरण पर जोर दिया। रमा गुप्ता ने कार्यक्रम की भव्यता को समाज की आधारशिला बताया। बबीता अग्रवाल ने कार्यक्रम को बहुत सुंदर और अद्भुत बताया। पूनम गोयल ने महारानी माधवी और महाराजा अग्रसेन को श्रद्धा सुमन अर्पित किए। अमिता गोयल ने कहा कि अग्रसेन जी के दर्शन से हमारे आगे आने वाली पीढ़ियों को प्रेरणा लेनी चाहिए। हरीश कुमार मित्तल ने कहा कि महाराजा अग्रसेन ने सच्चे समाजवाद की स्थापना करके समाज को दिशा दी है। अनिल जैन ने भविष्य में भी हर संभव सहयोग का वादा किया।

वहीं संजीव कुमार रस्तोगी ने इस अवसर पर वैश्य समाज के सभी नौकरी ढूंढ रहे युवाओं के लिए एंप्लॉयमेंट पोर्टल का उद्घाटन किया। सुनील गुप्ता ने भी व्यापार को वैश्य समाज की आधारशिला बताया। इस मौके पर दिल्ली के प्रसिद्ध कलाकार एवं संगीतकार कौशल गर्ग और उनकी समस्त मंडली ने अद्भुत प्रस्तुति से कार्यक्रम में समां ही बांध दिया।

अंतराष्ट्रीय वैश्य फेडरेशन कार्यकारिणी महामंत्री दीपक मित्तल और प्रधान महामंत्री बृजेश चंचल अशोक मित्तल, अशोक बंसल, ज्योति बंसल, योग गुरु एवं सांसद प्रतिनिधि देवेंद्र हितकारी, वरिष्ठ पत्रकार विपिन कुमार अग्रवाल, सुशांत गुप्ता, दिनेश सिंघल, सतीश बिंदल, डॉ मनीषा जैन नीरा वार्ष्णेय, नीरू सिंघल, महेंद्र बंसल, अशोक मित्तल, दीपा गर्ग, मोहिनी, प्रमोद कुमार जिंदल, चेतना, दीपशिखा गोयल, समीर केसरवानी ,रत्नेश कुमार गर्ग,अशोक बंसल, निर्मला बुधिया, संजीव गुप्ता समर कूल वाले, धर्मपाल आर्य, प्रदीप गर्ग, प्रदीप कुमार, अनिल कुमार गुप्ता, सुशांत गुप्ता, अमित सिंघल,सुनीता अग्रवाल, नितिन गुप्ता, नीरू , अंशु वकील, गीता अग्रवाल, अमिता गोयल, नीरा वार्ष्णेय, डॉ मनीष जैन,कवीश, दिनेश अग्रवाल, राकेश आर्य गर्ग, और रीना अग्रवाल आदि इस मौके पर उपस्थित थे।