लॉकडाउन: पीएम के वीडियो संदेश पर कांग्रेस की टिप्पणी, कहा- यह बस पीएम का फील गुड मूमेंट था

Shashi Tharoor, Lockdown

पूरी दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना से जूझ रही है। भारत में भी हालात दिन प्रतिदिन बिगड़ते ही जा रहे हैं। कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए भारत सरकार ने 21 दिनों के देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा की थी। जो आगामी 14 अप्रैल तक जारी रहेगा। इसी बीच पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक वीडियो संदेश जारी कर लोगों से अपील की है।

इसे भी पढ़े- कांग्रेस की पुरानी आदत, जब भी राष्ट्रहित की बात आई है उसने हमेशा से अलग ही राह पकड़ी- अमित शाह

पीएम ने 5 अप्रैल रात 9 बजे देशवासियों देशवासियों से मात्र 9 मिनट मांगे हैं। उन्होंने रविवार रात 9 बजे सभी घरों की लाइटें बंद करके, लोगों से अपने घरों के बाहर दरवाजे पर दीप जलाने की अपील की। पीएम के इस वीडियो संदेश के बाद विपक्ष के राजनेताओं ने सरकार को निशाने पर लिया है।

फोटो-ऑप प्रधानमंत्री…

दिग्गज कांग्रेसी नेता और सांसद शशि थरुर ने पीएम के इस वीडियो संदेश पर टिप्पणी की। उन्होंने अपने आधिकारिक ट्वीटर हैंडल से ट्वीट करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में लोगों के दर्द, उनके बोध और उनकी वित्तीय चिंताओं के बारे में कुछ नहीं कहा। यह बस पीएम मोदी का फील ‘गुड मूमेंट’ था।

इसे भी पढ़े- ‘रविवार रात 9 बजे जलाएं घर के बाहर दीया’, जानिए वीडियो संदेश में पीएम मोदी ने क्या-क्या कहा?

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, ‘अभी प्रधान शोमैन की बातें सुनीं। लोगों के दर्द, उनके बोध, उनकी वित्तीय चिंताओं को दूर करने के बारे में कुछ नहीं कहा गया। भविष्य को लेकर कोई दृष्टि नहीं, या उन मुद्दों पर कोई बात नहीं, जिनके बारे में लॉकडाउन के बाद के माहौल में बात करने का उनका इरादा हो।’ थरुर ने कहा कि यह बस.. भारत के फोटो-ऑप प्रधानमंत्री द्वारा तैयार किया गया फील-गुड मूमेंट था।

पीएम के इस वीडियो संदेश पर समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने टिप्पणी करते हुए कहा कि ‘बाहर भी कम न होगी रोशन, दिलों में उजाले बनाए रखिए।’

इसे भी पढ़े- COVID-19: कोरोना ने उड़ाई अमेरिका की नींद, एक दिन में 1169 मौते, 245070 संक्रमित

हमें निरंतर प्रकाश की ओर जाना है…

बता दें, पूरा देश चीन से निकले इस खतरनाक वायरस के प्रकोप की इस घड़ी में सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ रहा है। पीएम मोदी ने कोरोना संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में देश की सामूहिक शक्ति के महत्व को रेखांकित करते हुए 5 अप्रैल को देशवासियों से अपने घरों की बालकनी में खड़े रहकर नौ मिनट के लिए मोमबत्ती, दीया, टॉर्च या मोबाइल की फ्लैशलाइट जलाने की अपील की।

पीएम ने कहा  कि कोरोना महामारी से फैले अंधकार के बीच हमें निरंतर प्रकाश की ओर जाना है। इस अंधकार को पराजित करने के लिए प्रकाश के तेज को चारों दिशाओं में फैलाना है।

इसे भी पढ़े- अब लॉकडाउन के दौरान पुलिस के साथ मारपीट करने वालों की खैर नहीं! योगी सरकार ने लिया ये बड़ा फैसला