स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन: लॉकडाउन में मिली छूट, लेकिन ऑफिस में इन नियमों का करना होगा सख्ती से पालन!

Health Ministry issued guidelines for offices, Corona virus in india

देशभर में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है. भारत में कोरोना के मामले एक लाख के आंकड़े को पार कर चुके हैं. कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर ब्रेक लगाने के लिए देशभर में 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है. 50 दिनों से ज्यादा समय से जारी इस लॉकडाउन की वजह से सभी तरह का कामकाज एकदम ठप पड़ा हुआ है.

ये तो साफ हो चुका है कि कोरोना लंबे समय तक रहने वाली है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) भी ये बात कह चुका है कि लोगों को इस बीमारी के साथ जीना सीखना होगा. इसी को ध्यान में रखते हुए अब सरकार धीरे-धीरे छूट देकर लॉकडाउन खोलने की कोशिशों में है. लॉकडाउन 4.0 में कई राज्यों में कुछ गतिविधियां दोबारा से शुरू कर दी गई है.

यह भी पढ़े: कोरोना वायरस: लॉकडाउन के बाद जाएं ऑफिस तो इन बातों का रखें खास ध्यान!

लोग अपने कामकाज पर जाना शुरू करेंगे, तो ऐसे में लोग कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने की आशंका है. इसको लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइन जारी करके बताया है कि कोरोना संकट के बीच लोगों को ऑफिस में किन नियमों का पालन करना चाहिए. आइए इसके बारे में आपको बताते हैं…

– ऑफिस में मुंह को मास्क या फिर कपड़े से कवर करना अनिवार्य होगा. इसके अलावा थोड़े-थोड़े अंतरातल में हाथों को साबुन या फिर सेनिटाइजर से साफ भी करना होगा. वहीं, ऑफिस में कर्मचारियों के बीच दूरी बनाए रखना जरूरी होगा. बैठने की व्यवस्था में एक मीटर की दूरी रखनी होगी.

– इसके अलावा दफ्तर में थूकने पर भी बैन है. अगर कोई ऐसा करता हुआ पाया जाता है, तो उसको दंड के साथ ही जुर्माना भी भरना पड़ सकता है.

यह भी पढ़े: कोरोना वायरस: सिर्फ 2 दिन में 10 हजार से ज्यादा नए मामले आए सामने, एक लाख पार पहुंची संक्रमितों की संख्या

– स्वास्थ्य मंत्रालय ने गाइडलाइन में कहा कि अगर किसी दफ्तर में कोरोना वायरस के एक या फिर दो केस मिलते है, तो ऐसे में ऑफिस को बंद करने की जरूरत नहीं होगी. हालांकि इस दौरान दफ्तर को डिसइन्फेक्ट करना होगा.

– वहीं अगर किसी दफ्तर में एक-दो से ज्यादा कोरोना के केस आते हैं, तो ऐसे में उस ऑफिस को 48 घंटों के लिए बंद किया जा सकता है. इस दौरान कर्मचारियों को घर से काम करना होगा और दफ्तर को पूरी तरह से डिसइन्फेक्ट किया जाएगा.

– अगर ऑफिस के किसी कर्मचारी को बुखार, फ्लू जैसा लगे तो उसका घर पर ही रहना अनिवार्य होगा. इसके अलावा उसको डॉक्टरों से भी संपर्क करना चाहिए.

– गाइडलाइन में कहा गया कि अगर कोई कर्मचारी कंटेनमेंट जोन में रहता है, तो उसको घर से काम करने की इजाजत देनी चाहिए. वहीं सभी दफ्तरों को वर्जुअल मीटिंग को बढ़ावा देना चाहिए.

यह भी पढ़े: अब कोरोना से जुड़ी इस रहस्मय बीमारी ने दी भारत में दस्तक, इस शहर में 8 साल के बच्चे में मिले लक्षण

गाइडलाइन में ये भी कहा गया है कि ऑफिस का एरिया कम होता है और यहां लोग आसपास बैठते है, कैफेटेरिया में आना-जाना होता है. ऐसे में यहां वायरस का तेजी से फैलने की आशंका है. इसी वजह से सेनिटाइज समते सभी नियमों का पालन करना जरूरी है.