फेस्टिवल सीजन के लिए आ गई योगी सरकार की गाइडलाइन, जानिए कहां मिली छूट और कहां नहीं?

up festival corona

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस का कहर अभी भी जारी है. कोरोना की वजह से इस बार कई त्योहारों की रौनक फीकीं पड़ी है. वहीं कोरोना संकट के बीच फेस्टिवल सीजन शुरू होने वाला है. अक्टूबर से एक के बाद एक कई बड़े त्योहार आते हैं, जिनमें नवरात्र, दशहरा, दीवाली शामिल हैं. लेकिन कोरोना का कहर थमा नहीं है. जिसकी वजह से आगे आने वाले त्योहारों पर भी इसका असर पड़ता हुआ नजर आएगा.

दुर्गा पूजा, रामलीला के लिए जारी की गाइडलाइंस

इसी बीच उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने दो बड़े त्योहारों दुर्गा पूजा और रामलीला को लेकर गाइडलाइंस जारी कर दी है. कोरोना संकट के बीच उत्तर प्रदेश में सार्वजनिक दुर्गा पूजा के आयोजन पर रोक लगा दी गई हैं, तो वहीं  रामलीला मंचन को सख्त नियमों के साथ छूट दी गई हैं.

यह भी पढ़े: ‘योगी राज’ में अब महिलाओं के साथ छेड़छाड़ और रेप करने वालों की खैर नहीं! सीएम योगी ने लिया ये तगड़ा फैसला…

दुर्गा पूजा के सार्वजनिक आयोजन पर रोक

योगी सरकार ने इस बार दुर्गा पूजा को लेकर सार्वजनिक आयोजनों पर रोक लगाई है. यूपी में इस बार दुर्गा पूजा के दौरान जुलूस निकालने की इजाजत नहीं होगी. भीड़ इकट्ठा ना हो इसलिए ये रोक लगाई गई है. अपने घरों में लोग मूर्ति स्थापित करके पूजा कर सकते हैं.

रामलीला मंचन के लिए नियमों के साथ छूट

वहीं रामलीला मंचन के लिए नियम बनाए गए है. सीएम योगी ने कहा कि रामलीलाओं का मंचन प्राचीन परंपरा है. दशकों से ये परंपरा चली आ रही हैं और इस बार भी ये ना टूटे इस वजह से रामलीलाओं के मंचन को छूट दी गई है. हालांकि इसके लिए भी नियम और शर्त लागू होगीं.

यह भी पढ़े: वर्दी की धौंस दिखाकर सिपाही ने दिव्यांग को बेरहमी से पीटा, सीएम योगी ने लिया तगड़ा एक्शन!

रामलीला स्थलों पर 100 से अधिक लोग इकट्ठा नहीं हो पाएंगे. वहीं साथ ही जो लोग रामलीला देखने के लिए आएंगे उनको सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना होगा. इसके अलावा रामलीला स्थल को और लोगों को सैनिटेशन का खास ध्यान रखना होगा. हर किसी के लिए मास्क पहनना भी अनिवार्य होगा.

मेले के आयोजन को इजाजत नहीं

दुर्गा पूजा और दशहरे के मौके पर हर साल मेले का आयोजन होता है, लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा. मेले आयोजित करने के लिए इजाजत नहीं मिली हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर मेला लगेगा, तो उसमें लोगों की भीड़ इकट्ठा होगी और ऐसे में कोरोना का खतरा बढ़ जाएगा, जिसकी वजह से इस पर रोक लगाई गई है.

शादी के आयोजन के लिए मिली ये छूट

वहीं इसके अलावा शादी का सीजन भी शुरू होने वाला है, जिसके लिए भी गाइडलाइंस जारी की गई. सीएम योगी आदित्यनाथ के कहा कि शादी का सीजन आ रहा हैं, ऐसे में बैंड बाजा और रोड लाइट की अनुमति दी जा रही है. हालांकि शादी और बारात में सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा. सीएम ने निर्देश दिए कि आयोजनों में 100 से अधिक लोग शामिल नहीं हो पाएंगे.

यह भी पढ़े: विरोध बढ़ता देख ‘संविदा प्रस्ताव’ से पीछे हटी योगी सरकार! डिप्टी सीएम बोले- नहीं लिया कोई फैसला और ना ही…