फिक्स किराया, सख्त नियम, कोरोना काल में ऐसे शुरू होगी हवाई यात्रा

Domestic flights to resume from May 25, Rules of Air Travel

देशभर में कोरोना के मामले एक लाख के आंकड़े को पार कर चुके है. वहीं संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए 25 मार्च से लॉकडाउन लागू है. बीते 50 दिनों से ज्यादा समय से जारी लॉकडाउन की वजह से सभी कामकाज ठप पड़ा हुआ है. हालांकि अब सरकार लॉकडाउन में छूट देकर अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कोशिशों में है. रेलवे ने एक जून से 200 यात्री ट्रेन चलाने का फैसला लिया है, तो वहीं 25 मई से घरेलू विमान सेवा भी दोबारा से शुरू की जा रही है.

हरदीप सिंह पुरी ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस

हालांकि इस दौरान कई सख्त नियमों का पालन करना जरूरी होगा. इस कड़ी में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की. इसमें उन्होनें हवाई यात्रा से जुड़ी जानकारी साझा की. उड्डयन मंत्री ने बताया कि मेट्रो टू मेट्रो शहरों में यात्रा करने वाले लोगों के लिए अलग नियम होंगे, तो वहीं मेट्रो टू नॉन मेट्रो शहर के लिए अलग नियम होंगे.

यह भी पढ़े: 1 जून से पटरी पर दौड़ेगीं 200 यात्री ट्रेन, जानें टिकट बुकिंग से लेकर नए नियमों तक सब कुछ…

हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि शुरुआत तौर पर एयरपोर्ट के एक तिहाई हिस्सा ही शुरू होगा. अभी सिर्फ 33 प्रतिशत प्लेन को ही उड़ान की इजाजत दी गई है. फ्लाइट के अंदर यात्रियों को खाने की सुविधा नहीं दी जाएगी.

इन नियमों के साथ होगा हवाई सफर

विमान के सफर के दौरान बीच की सीट खाली रखने पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि फिलहाल ऐसा कोई भी नियम नहीं है, लेकिन अन्य नियमों का सख्ती से पालन किया जाएगा. हर उड़ान के बाद फ्लाइट को डिसइंफेक्ट करने का काम किया जाएगा. यात्रियों और क्रू-मेंबर्स के लिए हर सावधानी बरती जाएगी. इसके अलावा हर यात्री के फोन में आरोग्य सेतु ऐप होना अनिवार्य होगा. यात्रियों को फेस मास्क पहनना होगा और सेनिटाइजर की बोतल साथ रखना जरूरी होगा.

अगस्त तक टिकट का किराया फिक्स

हरदीप सिंह पुरी ने ये भी बताया कि सरकार ने अगस्त तक विमान यात्रा के टिकट के किराए फिक्स कर दिए हैं. उदाहरण के लिए दिल्ली से मुंबई सफर का न्यूनतम किराया 3500 रुपये और अधिकतम किराया 10 हजार रुपये तय किया गया है. सभी कम्पनियों को 40 फीसदी टिकट अधिकतम और न्यूनतम दामों के बीच के दाम पर ही देनी होगी. केंद्रीय मंत्री ने कहा कि फिक्स टिकट का ये फॉर्मूला अगस्त के महीने तक जारी रहेगा.

यह भी पढ़े: भारत में तेजी से बढ़ रहे कोरोना केस, इस मामले में इटली से भी निकला आगे

उड्डयन मंत्री ने कहा कि रूट्स को 7 सेक्शन में बांटा गया है, उसी के आधार पर किराया तय किया जाएगा. इसमें 40 से कम मिनट का पहला सेक्शन, 40 से 60 मिनट का दूसरा सेक्शन, 60 से 90 मिनट का तीसरा सेक्शन, 90 से 120 मिनट का चौथा सेक्शऩ, दो से ढाई घंटे का पांचवा सेक्शन, ढाई घंटे से 3 घंटे का छठा सेक्शन और 3 घंटे से 3.5 घंटे का सांतवां सेक्शन होगा.

प्रेस कॉन्फ्रेंस ने केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने वंदे भारत मिशन के बारे में भी बताया. उन्होनें कहा कि इस मिशन के तहत अब तक 20 हजार भारतीयों को वापस लाया जा चुका है. आने वाले समय में और नागरिकों को वापस लाया जाएगा.

यह भी पढ़े: चीन में कोरोना वायरस 2.0 फैलने का डर! अब रूप बदलकर लोगों को संक्रमित कर रही ये महामारी