CSK vs RR: वो गलतियां जिसकी वजह से राजस्थान को नहीं हरा पाई धोनी की टीम, प्लेऑफ में पहुंचना हो गया मुश्किल

CSK VS RR

तीन बार की चैंपियन रही चेन्नई सुपरकिंग्स की टीम के लिए इस बार प्लेऑफ में भी क्वालिफाई करना मुश्किल होता जा रहा हैं। टीम ने अब तक 10 मुकाबले टूर्नामेंट में खेल लिए हैं, जिसमें से केवल तीन में ही जीत हासिल करने में कामयाब हो पाई। इस बार धोनी की टीम प्लेऑफ के लिए भी क्वालिफाई करेगी या नहीं ये कहना अभी बहुत मुश्किल हैं।

बीते दिन चेन्नई का मुकाबला राजस्थान के खिलाफ हुआ, जिसमें भी टीम को बड़ी हार का सामना करना पड़ा। चेन्नई की टीम का प्रदर्शन देखकर तो ऐसा लग रहा था कि ये वो टीम नहीं हैं, जिसने तीन बार ट्रॉफी जीती। सीएसके की टीम में प्रदर्शन में कमी साफ तौर पर देखने को मिली। पहले बल्लेबाजी करने मैदान में उतरी टीम का कोई भी खिलाड़ी ताबड़तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी नहीं कर पाया। चेन्नई ने राजस्थान को केवल 126 रनों का ही लक्ष्य दिया, जिसे उन्होनें 15 गेंद पहले ही बना लिया। 7 विकेटों से राजस्थान चेन्नई को हराने में कामयाब रही।

यह भी पढ़े: केवल 3 इंच का फासला और 2 प्वाइंट के लिए पंजाब को करनी पड़ी इतनी मेहनत, IPL में बन गया 2 सुपरओवर का इतिहास

दोनों टीमों के लिए था “करो या मरो” का मैच

दोनों ही टीमों के लिए ये मैच काफी अहम था। जो टीम हारती उसके लिए प्लेऑफ में क्वालिफाई करना मुश्किल होना था। यानी ये “करो या मरो” का मैच था। राजस्थान की टीम ने ये मैच इसी हिसाब से खेला और मैच में शानदार गेंदबाजी की। राजस्थान की गेंदबाजी के आगे चेन्नई की टीम टिक नहीं पाई। शुरूआत में ही फाफ डु प्लेसी और शेन वॉट्सन जैसे खिलाड़ी विकेट गंवाकर पवेलियन वापस लौट गए। जल्दी विकेट गिरने के बाद धोनी, रायडू और जडेजा जैसे खिलाड़ी पारी को संभाल नहीं पाए।

धोनी हो गए रन आउट

चेन्नई की हार का एक बड़ा कारण धोनी का आउट होना भी रहा। केवल 56 रन पर ही CSK अपने महत्वपूर्ण विकेट गंवा चुकी थी। इसके बाद टीम को एक अच्छी साझेदारी की जरूरत थी, जो धोनी और जडेजा पूरी करते हुए दिख रहे थे। ये दोनों खिलाड़ी मैच का पासा पलट सकते थे। लेकिन जब टीम 107 पर पहुंची तो धोनी रन आउट हो गए। दरअसल, मिसफील्ड का फायदा उठाने के लिए धोनी ने दूसरा रन लेने की कोशिश कर रहे थे और ये उनको भारी पड़ गया। वो 28 रन बनाकर वापस पवेलियन लौट गए।

यह भी पढ़े: दिनेश कार्तिक की जगह इयोन मोर्गन बनाए गए KKR के कप्तान, जानिए क्या हैं वजह?

जडेजा नहीं खेल पाए आतिशी पारी

धोनी के आउट होने के बाद आखिरी ओवरों में टीम को तूफानी पारी की बहुत ज्यादा जरूरत थी। जडेजा क्रीज पर थे।उन्होनें मैच में 30 बॉल पर 35 रन बनाए और नॉट आउट भी रहे, लेकिन पारी का वो अंत नहीं कर पाए, जिसकी टीम को जरूरत थी।

गेंदबाजों ने दिलाई अच्छी शुरुआत लेकिन…

बल्लेबाजी में फ्लॉप होने के बाद अब सीएसके की टीम को धांसू गेंदबाजी की जरूरत थी, तभी टीम मैच में जीत सकती थी। चेन्नई के गेंदबाजी ने शुरुआत को काफी अच्छी की और केवल 28 रन पर ही राजस्थान के तीन खिलाड़ियों को आउट कर दिया। लेकिन इसके बाद बटलर और स्मिथ की जोड़ी ने पूरा मैच अपनी तरफ खींच लिया। इस जोड़ी को चेन्नई के गेंदबाज तोड़ नहीं पाई और आसानी से राजस्थान जीती।

बटलर-स्मिथ की जोड़ी नहीं तोड़ पाए गेंदबाज

बटलर और स्मिथ को आउट नहीं करने के पीछे का कराण भी चेन्नई द्वारा दिया गया छोटा लक्ष्य था। दरअसल, दोनों खिलाड़ियों ने आतिशी पारी नहीं खेली, जिसकी वजह से गेंदबाजों को उनको आउट करने का मौका नहीं मिला। दोनों सिंगल और दो-दो रन लेकर लक्ष्य का पीछा कर रहे थे और बीच-बीच में बड़े शॉट्स लगा रहे थे। बटलर ने मैच में 48 बॉल में 70 रन की नाबाद पारी खेली तो वहीं स्मिथ ने 34 गेंदों पर 26 रन बनाए। इन दोनों ने 9 चौके और दो छक्के लगाए।

यह भी पढ़े: KXIP vs RCB: चहल ने मैच के आखिरी ओवर में बढ़ाया रोमांच, गेल-राहुल के 6 बॉल में 2 रन बनाने में छूटे पसीने