कोरोना संकट के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति का ऐलान, सभी राज्यों में खोले जाएंगे प्रार्थनाघर

Coronavirus Pandemic,President Donald Trump ordered to reopen prayer house

चीन के वुहान से निकले खतरनाक कोरोना वायरस का असर पूरी दुनिया में देखने को मिल रहा है। सुपरपावर अमेरिका में इसका असर सबसे ज्यादा है। अमेरिका में संक्रमित लोगो की संख्या 16 लाख के पार पहुंच चुकी है, उनमें से 3.13 लाख लोगों का सफल इलाज किया जा चुका है जबकि 96 हजार से ज्यादा लोगों के मौत की पुष्टि हुई है। इसी बीच खबर है कि कोरोना खतरे और वैज्ञानिकों की सलाह को ताक में रखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका में ढील बढ़ाने के मूड में हैं।

इसे भी पढ़े- चीन में कोरोना वायरस 2.0 फैलने का डर! अब रूप बदलकर लोगों को संक्रमित कर रही ये महामारी

अधिक से अधिक प्रार्थना की जरुरत

व्हाइट हाउस में मीडिया को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने अब राज्यों को प्रार्थनाघर खोलने के लिए कहा है। ट्रंप ने प्रार्थनघरों को जरुरी स्थान की कैटिगरी में रखते हुए कहा कि ये जरुरी सेवाओं में आते हैं इसलिए खोला जाना जरुरी है। उन्होंने कहा, ‘मेरें निर्देश पर सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन अलग-अलग समुदायों के लिए गाइडलाइन जारी कर रहा है। आज मैं प्रार्थनाघरों, चर्च, सिननॉग और मस्जिदों को जरुरी स्थानों की श्रेणी में रख रहा हूं क्योंकि ये जरुरी सेवा प्रदान करते हैं। अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि अमेरिका में कम नहीं बल्कि अधिक से अधिक प्रार्थना की जरुरत है।’

इसे भी पढ़े- भारत-चीन सीमा विवाद पर भारत को अमेरिका का समर्थन, चीन बौखलाया

न्यूयार्क में सबसे ज्यादा मामले

बता दें, अमेरिकी प्रशासन काफी पहले से ही लॉकडाउन खोलने पर विचार कर रहा है। बीते दिनों अमेरिका के 35 राज्यों ने अपने यहां बाजार-दुकानें खोलने की इजाजत दी थी। कई राज्यों में सिनेमा घर, बार, रेस्तरां खोलने की इजाजत दे दी गई है। वहीं, अब अमेरिकी राष्ट्रपति ने सभी प्रार्थनाघर भी खोलने के आदेश दे दिए हैं। अमेरिका के न्यूयार्क और न्यूजर्सी में मामले सबसे ज्यादा है। न्यूयार्क में संक्रमित लोगों की संख्या 3.58 लाख के पार पहुंच चुकी है उनमें से 23 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।

इसे भी पढ़े- विपक्षी पार्टियों ने की अम्फान को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग, कहा- संकट में एकजुटता जरुरी

गौरतलब है कि वैश्विक महामारी का रुप ले चुके खतरनाक कोरोना वायरस का असर दुनिया के लगभग सभी देशों में देखने को मिल रहा है। पूरी दुनिया में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 52 लाख के पार पहुंच चुकी है। उनमें से 20 लाख से ज्यादा लोगों का सफल इलाज किया जा चुका है जबकि 3.38 लाख लोगों के मौत की पुष्टि हुई है।