India-China Clash: चीन ने पहली बार बताया गलवान झड़प में मारे गए सैनिकों का सच!

galwan valley clash india china

भारत और चीन के बीच सीमा पर तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा. दोनों देशों के बीच विवाद को सुलझाने के लिए बातचीत लगातार जारी है, लेकिन उसका कोई भी खास असर होता हुआ नजर नहीं आ रहा. जहां चीन सीमा पर बार-बार उकसाने वाली कार्रवाई कर रहा है, तो वहीं भारतीय सेना की तरफ से हर बार करारा जवाब मिल रहा है.

सच छिपाता आ रहा है ड्रैगन

चीन के साथ सीमा पर ये विवाद मई के महीने से शुरू हुआ था और जून के महीने ये काफी बढ़ता हुआ भी नजर आया. जब 15 जून को भारत और चीन के सैनिकों में खूनी झड़प हो गई थी. इस झड़प में भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे. इस दौरान चीन को कितना नुकसान पहुंचा, वो ये बात लगातार दुनिया से छिपाता हुआ आ रहा है. चीन नहीं बता रहा कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में कितने सैनिक मारे गए. हालांकि कई रिपोर्ट्स में लगातार ये दावा किया जा रहा है कि इस झड़प में चीन को काफी नुकसान हुआ था.

यह भी पढ़े: ‘आज खुद को भारतीय नहीं मानते कश्मीरी, वो चाहते हैं कि चीन…’ फारूक अब्दुल्ला का बड़ा बयान!

पहली बार किया खुलासा, लेकिन…

अब पहली बार चीन ने झड़प के दौरान मारे गए सैनिकों को लेकर एक बड़ा खुलासा किया है. एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन ने भारत के साथ हुई बैठक में ये बात पहली बार बताया कि गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में उसके 5 सैनिक मारे गए, जिसमें चीनी सेना का एक कमांडिंग ऑफिसर भी शामिल था. वहीं इससे पहले चीन ने ये कहा था कि झड़प के दौरान उसका केवल एक ही सैनिक मारा गया है.

यह भी पढ़े: चीनी वैज्ञानिक का हैरान कर देने वाला दावा, कहा- चीन और WHO ने मिलकर कोरोना वायरस… 

लेकिन ये तो हर कोई जानता है कि चीन भरोसे लायक नहीं है. जिस देश ने अपने मारे गए सैनिकों की बात को तीन महीनों तक छिपाकर रखा, वो अब 5 जवानों के मरने की बात कह रहा है, तो उस पर पूरी तरह विश्वास करना बहुत मुश्किल है. भले ही चीन 5 सैनिकों के मारे जाने की बात बोल रहा हो, लेकिन अमेरिकी और भारतीय खुफिया एजेंसियों ने अनुमान जताया हैं कि चीन के कम से कम 40 सैनिक मारे गए हैं.

‘…तो गोली चलाने में भी नहीं हिचकेंगे जवान’

गौरतलब है कि LAC पर तनाव का माहौल अभी भी बना हुआ है. भारत ने चीन को साफ तौर पर ये कह दिया है कि अपनी रक्षा और पूर्वी लद्दाख में सीमा की सुरक्षा के लिए हमारे सैनिक किसी भी हद तक जा सकते हैं. भारत की ओर से चीन को ये साफ तौर पर संदेश दे दिया गया है कि अगर हालात नियंत्रण के बाहर हो जाते हैं, तो हमारे सैनिक गोली चलाने में भी नहीं हिचकेंगे. एक अधिकारी ने अपनी पहचान को गुप्त रखने की शर्त पर बताया कि चीन को बता दिया गया है कि धक्का-मुक्की और झड़प की कार्रवाई को बिल्कल भी बर्दाश्त नहीं किया जाएगा.

यह भी पढ़े: India-China Dispute: भारत के आक्रामक तेवर के आगे झुकने को मजबूर हुआ चीन, मान ली ये शर्त