चीन और पाक मिलकर रच रहे हैं भारत के खिलाफ बड़ी साजिश? मिले ये चौका देने वाले संकेत

china and pak is together active in loc and ladakh, China and Pakistan are plotting a big conspiracy against India

पिछले कुछ दिनों से भारत और चीन के सैनिकों के बीच लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर तनाव बढ़ गया है. पैंगोंग त्सो झील (Pangong Tso Lake) से लगे फिंगर एरिया में चीन ने बंकर बनाना शुरु कर दिया है. तो वहीं इसके अलावा गलवान रिजन में 3 जगह पर चीनी सैनिक भारतीय क्षेत्र में घुसे आए हैं. बता दें कि पैंगोंग त्सो झील से सटी पहाड़ी पगडंडियों से बने क्षेत्रों को फिंगर एरिया कहा जाता है. दोनों ही पक्ष इन क्षेत्रों पर अपना-अपना दावा करते हैं और इसी के चलते इसको लेकर विवाद होता रहता है.

LoC पर तनाव लगातार जारी

इस तरफ सीमा पर चीन ने आक्रामक है, तो वहीं दूसरी ओर LoC पर पाकिस्तान भी लगातार फायरिंग कर रहा है और घाटी में आंतकी हमले भी बीते कुछ दिनों से बढ़ने लगे है. इतना ही नहीं पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) भी इस्लामाबाद में चुनाव कराने की तैयारी में है. इन सब घटनाओं का एक साथ होना क्या फिर संयोग है या फिर इसके पीछे चीन-पाक की गहरी साजिश छिपी हुई है.?

यह भी पढ़े: भारत-चीन सीमा विवाद पर भारत को अमेरिका का समर्थन, चीन बौखलाया

विशेषज्ञों के मुताबिक LoC और LAC पर चीन-पाकिस्तान का एक साथ एक्टिव होना संयोग नहीं बल्कि ये एक-दूसरे से जुड़ा हुआ हो सकता है. इसमें पाकिस्तान और चीन की करतूतों का तालमेल देखने को मिल रहा है. इसी के चलते सुरक्षा एंजेसियों ने पाकिस्तान और चीन की गतिविधियों पर पैनी नजर रखना शुरु कर दिया है. सभी बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी जा गई है.

LAC पर भी बढ़ रहा तनाव

बताया जा रहा है कि लद्दाख में कम से कम 3 प्वाइंट पर चीनी सैनिकों ने भारतीय क्षेत्र का उल्लंघन किया है. रिपोर्ट्स के मुताबिक इनमें से हर स्पॉट पर चीन के 500 से अधिक सैनिक मौजूद हैं और वो भी भारतीय क्षेत्र के अंदर. इसके बाद भारतीय सेना ने भी इलाके में अतिरिक्त सेना को तैनात कर दिया है.

जानकारी के मुताबिक चीन पैंगोंग त्सो झील से सटे फिंगर एरिया में बंकर बना रहा है. इंडियन आर्मी के जवान फिंगर 5 से 8 में पिछले कई सालों से गश्त लगाते हैं, तो वहीं चीनी सैनिक फिंगर 3 तक के इलाकों में पेट्रोलिंग करते हैं. लेकिन अब चीन फिंगर 3 और 4 के बीच बंकर बना रहा है. इसके अलावा चीनी सैनिकों ने पहाड़ी रास्तों पर भी पोजिशन ले ली है. ऐसा सब तब हो रहा है जब कुछ दिनों पहले ही पैंगोंग लेक में चीनी सैनिकों ने अपनी बोट-पैट्रोलिंग बढ़ा दी है.

यह भी पढ़े: चीन में कोरोना वायरस 2.0 फैलने का डर! अब रूप बदलकर लोगों को संक्रमित कर रही ये महामारी

करगिल युद्ध की यादें हो रही ताजा

LoC और LAC पर एक साथ हो रही ये घटनाएं एक तरह से कारगिल युद्ध की भी याद दिलाती है. जब भारतीय सेना के जवान पाकिस्तान के नापाक इरादों को ध्वस्त कर रहा था, उस दौरान चीन पैंगोंग त्सो झील के किनारे 5 किमी. लंबी सड़क बनाने में लग गया था. भारतीय सेना का पूरा ध्यान इस समय पाकिस्तान पर था और उधर चीन ने इसका फायदा उठाते हुए काफी कम समय में झील के किनारे पेट्रोलिंग के लिए ट्रैक बना लिया.

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से धारा-370 हटाए और उसे 2 केंद्रशासित राज्यों में बांटे जाने के बाद पहली गर्मी में ही इस तरह की घटनाएं हो रही है. विशेषज्ञों के मुताबिक घाटी में आंतकी हमले बढ़ाना, LoC पर पाकिस्तान की ओर से गोलीबारी में इजाफा होना और LAC में इस तरह की घटनाएं एक-दूसरे से जुड़ी हुई हो सकती है.

यह भी पढ़े: चीन को झटके पर झटका! अब ये फुटवियर कम्पनी कारोबार समेटकर आएगी भारत, हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार