Blue Moon: आज नीले चांद का होगा दीदार, जानिए क्यों होगा ये कितना खास?

blue moon

आज आसमान में एक बेहद ही अद्भूत नजारा अब से थोड़ी देर में दिखेगा। आज रात को नीले चांद का दीदार होगा। वैज्ञानिकों के मुताबिक ऐसा 100 सालों में लगभग 41 बार होता है, जब ब्लू मून दिखाई देता है। इस दौरान आसामान में दुर्लभ नजारा देखने को मिलता है।

ब्लू मून का ये होता हैं मतलब

ब्लू मून एक असामान्य खगोलीय घटना होती है, जो हर दो-तीन सालों में देखने को मिल जाती है। वैसे आम तौर पर लोगों का ये मानना होता है कि ब्लू मून का मतलब नीला चांद दिखना होता है। हालांकि वास्तव में ये घटना चांद के नीले होने जैसी नहीं होती। इस शब्द का इस्तेमाल ऐसी घटना के लिए किया जाता है, जिसका घटित होना काफी दुर्लभ होता है। एक महीने में ही दो पूर्णिमा होना भी एक ऐसी ही घटना है। आम तौर पर हर महीने में एक पूर्णिमा होती, जिस दौरान चांद पूरे आकार का नजर आता है। लेकिन जब एक ही महीने में ये घटना दो बार हो, तो उसे ‘ब्लू मून’ कहते हैं।

ये बहुत कम बार होता है, जब एक ही महीने में दो बार पूर्णिमा आए। इस बार अक्टूबर में ऐसा हुआ है। चांद का महीना 29 दिन, 12 घंटे, 44 मिनट और 38 सेकेंड का होता है, जिसे औसतन 29.5 दिनों का कहा जाता है। इस बार अक्टूबर के महीने में एक अक्टूबर को पूर्णिमा थी। वहीं अब 31 अक्टूबर को दोबारा से चांद अपने पूरे आकार में दिखाई देगा।

कब दिखेगा ब्लू मून?

ब्लू मून का दीदार 8 बजकर 19 मिनट के आसपास किया जा सकेगा। खगोल वैज्ञानिकों ने ऐसा दावा किया है कि अगर आज रात को आसमान साफ हुआ, तो कोई भी टेलीस्कोप से ब्लू मून देख सकेगा। खगोलीय घटना का साक्षी बनने के लिए नेहरू तारामंडल समेत कई वैज्ञानिक काफी बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं।

कैसे पड़ा इसका नाम ब्लू मून?

NASA के अनुसार साल 1883 में क्राकोटा नाम के इंडोनेशियाई ज्वालामुखी से काफी राख निकली और वो आसमान ने फैल गई। इस दौरान राख के कुछ कण के बीच से होकर चंद्रमा की किरणें जमीन पर आईं। तब लोगों को चांद नीला दिखाई देने लगा। उसी दौरान से इसका नाम ब्लू मून पड़ गया। आज रात को चांद अधिकतर हिस्सों में चमकदार और सफेद दिखाई देगा, लेकिन जहां भी वायुमंडलीय परिस्थितियां 1883 जैसी होगीं वहां ब्लू मून दिखाई देगा।

वैसे जब कोई महीना 30 दिन का हो तो ब्लू मून की संभावनाएं काफी कम होती है। हालांकि साल 2007 में ऐसा हुआ था, जब 30 जून को ब्लू मून रहा था। वहीं इसके बाद 30 दिन के महीने में ब्लू मून 2050 में दिखाई देगा। 31 दिनों के महीनें में ब्लू मून दिखने की संभावना ज्यादा होती है। साल 2018 में दो बार ब्लू मून दिखाई दिए थे, जिसमें पहला 31 जनवरी और दूसरा 31 मार्च को दिखाई देगा। वहीं अब अगला ब्लू मून 31 अगस्त 2023 को दिखाई देगा।