नेपाल और श्रीलंका में सरकार बनाना चाहते हैं अमित शाह, बोले बीजेपी शासित त्रिपुरा के सीएम

Biplab Deb and Amit Shah, Assam
Source- Google

भारतीय जनता पार्टी (BJP) शासित त्रिपुरा एक बार फिर से खबरों मे है। त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिपलब देब (Biplab Deb) आये दिन अपनी बयानबाजियों के कारण चर्चा में रहते हैं। इस बार फिर उन्होंने कुछ ऐसा ही बयान दिया है, जिसे लेकर राजनीतिक पार्टियों की ओर से तरह-तरह की बयानबाजियां की जा रही है।

प्रदेश की राजधानी अगरतला में एक कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री बिपलब देब (Biplab Deb) ने कहा है कि उनकी पार्टी (बीजेपी) की योजना सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि पड़ोसी देशों में भी सरकार बनाने की है। उन्होंने केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह का नाम लेकर कहा कि उनकी योजना नेपाल और श्रीलंका में भी सरकार बनाने की है।

इसे भी पढ़े- भागने की कोशिश, पुलिस पर चलाई गोली, फिर ढेर हुआ शूटर गिरधारी…इस एनकाउंटर ने दिलाई विकास दुबे की याद!

बिपलब देब का पूरा बयान

खबरों के मुताबिक त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिपलब देब ने अगरतला में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए अमित शाह से काफी पहले हुई बातचीत को साझा किया। बताया जा रहा है कि साल 2018 में त्रिपुरा में हुए विधानसभा चुनाव के समय दोनों के बीच यह बातचीत हुई थी। तब बीजेपी ने लेफ्ट को हराकर त्रिपुरा में सरकार बनाया था।

मुख्यमंत्री बिपलब देब ने कहा, उस समय बीजेपी के अध्यक्ष रहे अमित शाह (Amit Shah) ने एक मीटिंग के दौरान भारत के सभी राज्यों में जीतने का बाद विदेशों में जीत दर्ज करने की योजना के बारे में बताया था।

उन्होंने कहा, ‘हम स्टेट गेस्टहाउस में बात कर रहे थे जब अजय जामवाल (बीजेपी के नॉर्थईस्ट जोनल सेक्रटरी) ने कहा कि बीजेपी ने कई राज्यों में सरकार बना ली है। इसके जवाब में अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि अब श्रीलंका और नेपाल बचे हैं। हमें नेपाल और श्रीलंका में पार्टी का विस्तार करना है और वहां सरकार बनाने के लिए जीतना है।’

बयानों की बदौलत सुर्खियों में रहते हैं बिपलब देब

बता दें, बिपलब देव ने अमित शाह के नेतृत्व की तारीफ की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी ज्लद ही केरल में कांग्रेस और लेफ्ट के बीच सत्ता के हस्तांतरण के चलन को बदलेगी और दक्षिण में भी सरकार बनाएगी। मुख्यमंत्री बिपलब देब इससे पहले भी कई दफा अपने अजीबोगरीब बयान को लेकर सुर्खियों में रहे हैं। एक बार उन्होंने कहा था कि महाभारत के समय इंटरनेट और सैटेलाइट कम्युनिकेशन मौजूद थे। जिसे लेकर लोगों ने उन्हें ट्रोल कर दिया था।

इसे भी पढ़े- ममता के मंत्री ने कांग्रेस और सीपीएम से की साथ आने की अपील, बीजेपी बोली- TMC ने चुनाव से पहले ही स्वीकार कर ली हार