अक्षय कुमार की फिल्म ‘लक्ष्मी बॉम्ब’ भी दे रही है लव जिहाद को बढ़ावा? जानिए क्या है पूरा माज़रा…

अभी हाल ही में सामने आए तनिष्क के एड के मामले से तो हर कोई रूबरू हो चुका होगा। किस तरह से ज्वेलरी ब्रेंड पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया गया और कैसे आखिर में कंपनी ने एड वापस ले लिया। हालांकि तनिष्क एड मामला अब अपने तरह का अकेला मामला नहीं रह गया, जिस पर इस तरह के आरोप लगाए गए बल्कि अब लव जेहद को बढ़ावा देने के आरोप आने वाली फिल्म ‘लक्ष्मी बॉम्ब’ पर भी लगने लगा है जिसका ट्रेलर हाल ही में रिलीज हुआ है।

विवादों में अक्षय की फ़िल्म

अक्षय कुमार स्टारर लक्ष्मी बॉम्ब के ट्रेलर को वैसे तो शुरुआत में अच्छा रिस्पॉन्स मिला, लेकिन फिर सोशल मीडिया पर आवाज़ें उठाई जाने लगी इस फिल्म के खिलाफ और बायकॉट करने को भी कहा जाने लगा। आइए जानते है इस पूरे विवाद को कि आखिर क्या दिखाया गया इस फिल्म के ट्रेलर में और क्यों सोशल मीडिया पर मचा है हंगामा।

जानिए पूरा मामला क्या है?

अक्षय कुमार की नई फिल्म ‘लक्ष्मी बम’ के ट्रेलर और फिल्म को लेकर विवाद शुरू हुआ है। सोशल मीडिया ट्विटर पर तो #ShameOnUAkshayKumar ट्रेंड भी करने लगा। इस तरह के आरोप लगाया जा रहा हैं कि इस फिल्म के द्वारा लव जिहाद को बढ़ावा दिया जा रहा है। फिल्म लक्ष्मी बम हॉरर कॉमेडी है जिसमें अक्षय कुमार के साथ कियारा आडवाणी ने काम किया हैं और जिसकी कहानी के हिसाब से अक्षय कुमार भूत प्रेत में विश्वास नहीं रखते और दावा करते हैं कि जिस दिन भूत दिख गया उन्हें उस दिन वो चूड़ियां पहन लेंगे।

क्या दिखाया गया था ट्रेलर में?

ट्रेलर के मुताबिक अक्षय के शरीर में लक्ष्मी की आत्मा समा जाती है। आत्मा किससे बदला लेगी या वो क्या चाहती है ये तो फिल्म आने के बाद ही पता चलेगा, लेकिन इसस जुड़ा विवाद कुछ इस तरह से है कि फिल्म में अक्षय कुमार आसिफ नाम के किरदार में हैं और कियारा प्रिया नाम के किरदार में। ऐसे में फिल्म पर लव जिहाद को बढ़ावा देने का आरोप लगाया गया है। और तो और फिल्म के नाम को लेकर भी आपत्ति है लोगों को, देवी लक्ष्मी के नाम के आगे बम लगाने पर लोगों को खासा आपत्ति है।

तमिल फिल्म ‘कंचना’ का लक्ष्मी बम हिंदी रीमेक है। ऐसे में सोशल मीडिया पर कुछ यूजर्स ने कहा कि ऑरिजनल फिल्म में तो किरदार का नाम राघव है और लक्ष्मी बॉम्म में आसिफ क्यों और हीरोइन का नाम प्रिया ही है। इन्हीं चीजों को लेकर मामला गर्माया हुआ है। कुछ यूजर्स के रिएक्शन पर गौर कर लेते हैं।

आयूष नाम के यूजर ने लिखा- “मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि अक्षय कुमार भी इन बॉलीवुड के जोकर जैसे ही है। मुझे लगा था ये दूसरों से अलग है। अब यह भी लव जिहाद को बढ़ावा दे रहे है।”

ट्विटर एक यूजर प्रशांत पटेल उमराव ने तो आरोप लगाते हुए ये तक कहा कि फिल्म की प्रोड्यूसर अफगानी मूल की शबीना खान है, जो कश्मीरी अलगाववादी हैं और कश्मीर और अनुच्छेद 370 के मामले में लगातार भारत और भारत सरकार के खिलाफ जहर घोलती रही हैं। लव जिहाद को प्रमोट किया जा रहा है इस फिल्म के जरिए।

खैर क्या सच में एक ऐड या फिर एक फिल्म पर इस तरह के आरोप लगाए जा सकते हैं कि वो लव जिहाद को प्रोमोट कर सकते हैं। कला के बीच में धर्म को लाना कितना सही है ये तो बहस का अलग विषय है, लेकिन इस तरह से बार बार लव जिहाद का जिक्र सामाजिक और धार्मिक सौहार्द्र को जरूर आहत करता है। इन बातों में कितनी सच्चाई है और ये आरोप कितने सही ये तो वक्त की गोद में ही छिपा है।