1 जून से पटरी पर दौड़ेगीं 200 यात्री ट्रेन, जानें टिकट बुकिंग से लेकर नए नियमों तक सब कुछ…

200 TRAIN TICKETS BOOKING, INDIAN RAILWAY

कोरोना संकट की वजह से बीत कई दिनों से ट्रेन सेवा बंद है. हालांकि अब लॉकडाउन में सरकार धीरे-धीरे रियायतें देने लगी है. एक जून से इंडियन रेलव 200 नई ट्रेनें चलाने वाला है. इन ट्रेन की टिकट की बुकिंग भी शुरू हो गई है. 21 मई गुरुवार 10 बजे से ट्रेनों की टिकट बुकिंग शुरू हो गई है. इस दौरान ट्रेन के नियमों में कई बदलाव किए गए है. इन ट्रेन में जनरल कोच होंगे और इसमें यात्रा करने वाले लोगों को भी रिजर्वेशन कराना होगा. कंफर्म टिकट के बिना अब यात्री जनरल कोच में सफर नहीं कर पाएंगे. आइए बताते हैं आपको 1 जून से चलने वाली इन ट्रेन के अन्य नियमों के बारे में…

– IRCTC की आधिकारिक वेबसाइट या फिर मोबाइल ऐप के जरिए इन ट्रेन की ई-टिकट बुक की जा सकती है. ट्रेनों की टिकट के लिए किसी भी रेलवे स्टेशन पर आरक्षण काउंटर को नहीं खोला जाएगा और ना ही एजेंट के द्वारा टिकट बुक हो पाएंगी. केवल रेलवे की वेबसाइट से ही ट्रेनों के लिए टिकट बुक की जा सकती है. 

– इन ट्रेनों का एडवांस रिजर्वेशन पीरियड (ARP) 30 दिन का होगा. इसका मतलब है कि इन 200 ट्रेनों के लिए यात्री 30 दिन पहले टिकट बुक करा सकते हैं.

यह भी पढ़े: मेट्रो कोच पूरी तरह पैक होना कोरोना महामारी के बीच खतरनाक स्थिति पैदा कर सकता है- दिल्ली HC

– RAC और वेट लिस्ट टिकट बुक कराए जा सकते हैं, हालांकि वेटिंग टिकट वाले व्यक्तियों को ट्रेन में चढ़ने की इजाजत नहीं होगी. वर्तमान नियमों के अनुसार एसी 1 में 20, एसी 2 में 50, एसी 3 में 100 और स्लिपर कोच में 200 वेटिंग टिकट बुक कराए जा सकते है.

– यात्रा के समय किसी भी यात्री को अनरिजर्व्ड टिकट (UTS) टिकट जारी नहीं किए जाएंगे और ना ही कोई अन्य टिकट जारी होंगे.

– ट्रेनों में तत्काल और प्रीमियर तत्काल बुकिंग की इजाजत नहीं होगी.

– पहला चार्ट ट्रेन के चलने से कम से कम 4 घंटे पहले बनेगा. दूसरा चार्ट 2 घंटे पहले तैयार होगा. पहले और दूसरे चार्ट की तैयार के बीच केवल ऑनलाइन टिकट बुकिंग की इजाजत होगी.

– सभी यात्रियों की मेडिकल जांच की जाएगी और सिर्फ पूर्ण रूप से स्वस्थ यात्रियों को ही ट्रेन में यात्रा करने की परमिशन होगी.

यह भी पढ़े: कोरोना का असर: अब ओला के कर्मचारियों पर गिरी गाज, 1400 लोगों को नौकरी से निकालेगी कम्पनी

– सिर्फ कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को ही रेलवे स्टेशन में एंटी दी जाएगी. प्रवेश के दौरान ही सभी यात्रियों को फेस कवर/मास्क पहनना अनिवार्य होगा. गंतव्य स्टेशन पर पहुंचने के बाद सभी यात्रियों को वहां के राज्य द्वारा बनाए गए स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करना होगा.

– रेलवे स्टेशन पर थर्मल स्क्रीनिग के लिए यात्री को कम से कम 90 मिनट पहले पहुंचना होगा. यात्रियों को स्टेशन और ट्रेनों में सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखनी होगी.

– किसी भी तरह के भोजन का पैसा ट्रेन की टिकट के किराए में शामिल नहीं होगा. खाने के लिए प्री-पेड बुकिंग की सुविधा दी जाएगी. वहीं रेलवे स्टेशनों पर सभी स्टॉल को खोलने की इजाजत दे दी गई है. फूड प्लाज, जलपान वस्तुओं को सिर्फ लेकर जाने की इजाजत होगी, वहां बैठक खाने की कोई व्यवस्था नहीं की जाएगी.

– ट्रेन के अंदर यात्रियों को चादर, कंबल, पर्दे आदि नहीं दिए जाएंगे इसलिए रेलवे ने ये सलाह दी है कि यात्री अपने लिए चादर खुद लेकर आएं. हालांकि कोच का तापमान ऐसा रखा जाएगा कि बिना चादर के लोगों को समस्या ना हो. इसके अलावा हर यात्री के मोबाइल फोन में आरोग्य सेतु ऐप होनी चाहिए.

यह भी पढ़े: डरा रही कोरोना के 1 लाख संक्रमितों की संख्या ! लेकिन राहत दे रही ये गुड न्यूज़